वाराणसी

कोरोना अपडेट-वाराणसी में कोविड पीड़ितों की संजीवनीबूटी अब होगा सहज उपलब्ध, डीएम के.आर शर्मा ने दी जानकारी

कोरोना की दूसरे लहर ने जहां पूरे देश में त्राहि त्राहि मचा दिया तो वही पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी भी अछूता नहीं रहा,अप्रैल के प्रथम सप्ताह से ही इस अदृश्य वायरस ने रफ्तार पकड़ना शुरू कर दिया था,पंचायत चुनाव की तैयारियों में व्यस्त अधिकारी जब तक सजग होते तब तक स्थित बेकाबू हो चुका था,पूरे प्रदेश के साथ साथ काशी में भी कोहराम मचा हुआ था,स्थिति यह हो गई की लोग बिना इलाज के अपने आंखो के सामने अपनो को तड़प तड़प कर मरते हुए देखने को विवश हो गए थे,अचानक ऑक्सीजन और प्राण रक्षक रेमडेसिविर इंजेक्शन की कई गुना बढ़ी मांग ने सबको बेवश कर दिया,ऐसे में वाराणसी के जिलाधिकारी के.आर शर्मा और उनकी टीम ने दिन रात कड़ी मशक्कत के बाद धीरे धीरे बिगड़ी स्थिति पर नियंत्रण करना शुरू कर दिया और करीब एक महीने के अंदर ही स्थिति लगभग नियंत्रण में आ चुका है,अभी ना तो वाराणसी में कोविड मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी है ना ही तो अस्पताल में बेड की,रही बात रेमडेसिविर इंजेक्शन की तो अब वह भी अब सहज रूप से उपलब्ध होगा।

इस बात की जानकारी देते हुए डीएम के.आर शर्मा ने बताया कि जनपद वाराणसी में अब किसी भी कोविड संक्रमित मरीज को रेमडेसिवीर इंजेक्शन की उपलब्धता में कोई समस्या उत्पन्न नहीं होगी। इसके लिए अब दिनांकः 14.05.2021 से पूर्वान्ह 10.00 बजे से 02.00 बजे तक कलेक्ट्रेट स्थित राइफल क्लब में रेडक्राॅस सोसाइटी, वाराणसी के माध्यम से रेमडेसिवीर इंजेक्शन उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था लागू की जा रही है। इस कार्य हेतु निबन्धन विभाग के उप निबन्धक (प्रथम) डाॅ0 राजकरन एवं दो निबन्धन लिपिक श्री रमाशंकर सिंह व श्री सतीश श्रीवास्तव को लगाया गया है, इनके साथ-साथ रेडक्राॅस सोसाइटी, वाराणसी के पदाधिकारी भी रहेंगे। यह व्यवस्था दिनांकः 14.05.2021 से आगामी कईं दिनों तक चलेगी तथा रैमडेसिवीर इंजेक्शन उस दिन की उपलब्धता के आधार पर वितरित किया जायेगा। इस दवा को चिकित्सालय में भर्ती मरीज की जीवन रक्षा हेतु सीधे मरीज के परिजन को डाॅक्टर के पर्चे एवं मरीज के आधार कार्ड/वोटर आई0डी0 कार्ड के आधार पर अधिकतम 06 वायल्स दिया जा सकेगा, जिसमें से एक बार में 03 वायल्स से अधिक नहीं दिया जाएगा। दवा की कीमत प्रति वायल 1800 रू0 मरीज के परिजन को राइफल क्लब में बने काउण्टर पर देनी होगी, जिसपर उन्हें दवा उपलब्ध हो जाएगी। सम्बन्धित मरीज के परिजन द्वारा हास्पिटल या डाॅक्टर का पर्चा मूल रूप में काउण्टर पर जमा किया जायेगा तथा यथासंभव मरीज के आधार कार्ड/वोटर आई0डी0 कार्ड की छायाप्रति भी लेकर आयेंगे।

 87 total views

Most Popular

To Top