अपना देश

लाल बहादुर शास्त्री ने आज ही के दिन दुनिया को कहा था अलविदा

ब्यूरों डेस्क। आज हमारे देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि हैं। इस अवसर पर उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने पूर्व प्रधानमंत्री को श्रध्दांजलि दी, साथ ही उन्होंने ने ट्वीटर पर लिखा कि युद्ध और कृषि संकट के समय भी देश की एकता, अखंडता सुरक्षित रखने और राष्ट्र की प्रगति में सैनिकों और किसानों के योगदान को सम्मान देने के लिए उन्होंने ‘जय जवान, जय किसान’ का अमर मंत्र दिया था। इसी के सााथ वह आगे लिखते है कि देश में कृषि और दुग्ध उत्पादन में क्रांति के लिए शास्त्री जी के प्रयासों को सदैव आदरपूर्वक स्मरण किया जाएगा। कृतज्ञ देश के साथ शास्त्री जी की स्मृति को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

बता दें कि आज ही के दिन यानि 11 जनवरी 1966 में लाल बहादुर ​शास्त्री ने दुनिया को अलविदा कहा था। पंडित जवाहर लाल ने​हरू की मृत्यु के बाद नौ जून 1964 में इन्हें देश के दूसरे प्रधानमंत्री का पद दिया गया था। अपने इस पद पर उन्होंने 18 महीने तक कार्य किया था।

शास्त्री जी ने कई अहम कार्य किए ,1965 में पाकिस्तान से लड़ाई के समय जब भयंकर सूखा पड़ा था, तब उन्होंने देश के लोगों से एक दिन के उपवास की अपील की थी। इसी समय उन्होंने यह नारा भी दिया था ‘जय जवान जय किसान’।

ट्रांसपोर्ट ​मिनिस्टर के पद रहते हुए ट्रांसपोर्ट सेक्टर में महिलाओं को बतौर कंडक्टर लाने की शुरूआत सबसे पहले इन्होंने  ही की थी। प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए लाठीचार्ज न करवाकर पानी के बौछार करवाने का सुझाव इन्होंने ही दिया था।

 27 total views

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top