अपना प्रदेश

मिशन कोविड महामारी-कोरोना से अनाथ बच्चों का नाथ बनेगी प्रदेश सरकार, सीएम योगी ने दिया ये दिशानिर्देश

कोरोना के दूसरे जानलेवा लहर से किसी ना किसी रूप में हर कोई प्रभावित हुआ है,शायद ही ऐसा कोई हो जो अपनो या अपने ईष्ट मित्र को इस महामारी में ना खोया हो, हत्यारे कोरोना ने ना जाने कितनो को जीवन भर के लिए अंतहीन दर्द दिया है तो कितने मासूमों से उनके मां बाप को छीनकर अनाथ बना दिया है,अनाथ हुए बच्चो की दुनिया जहां उजड़ गई वहीं उनके सामने उनके भविष्य को लेकर भी चुनौती खड़ी है,ऐसे में उत्तरप्रदेश की सरकार ऐसे अनाथ हुए बच्चो के लिए मसीहा की भूमिका निभाने की तैयारी कर रही है।इसी क्रम में प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने संबंधित विभागों को दिशानिर्देश दिया है।

उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ महामारी के समय एक ओर प्रदेशवासियों को कोरोना के प्रकोप से बचाने का प्रयास कर रहे है तो दूसरे तरफ क्रूर कोरोना के चलते अपनों के दूर चले जाने से मायूस बच्चों के लिए भी संवेदनशील हैं। कोरोना संक्रमण की चपेट में आए माता – पिता के बच्चे जो 18 साल से कम आयु वर्ग के हैं उनकी सुरक्षा, संरक्षण और पुनर्वास के लिए योगी सरकार प्रतिबद्ध है। ऐसे में योगी सरकार जल्द ही प्रदेश में एक नई कार्ययोजना पर काम कर रही है। जिससे सीधे तौर पर प्रदेश के ऐसे बच्चों को राहत मिलेगी जिन्होंने कोरोना काल में अपनों को खो दिया है।महिला कल्याण विभाग के निदेशक मनोज कुमार राय ने बताया की प्रदेश में अब तक ऐसे करीबन 555 बच्चों को चिन्हित किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि महिला कल्याण विभाग ने प्रदेश के सभी जनपदों के डीएम को ऐसे सभी बच्चों की सूची तैयार कर भेजने के आदेश दिए हैं। जिससे ऐसे सभी बच्चों के संबंध में सूचनायें संबंधित विभागों, जिला प्रशासन को पूर्व से प्राप्त सूचनाओं, चाइल्ड लाइन, विशेष किशोर पुलिस इकाई, गैर सरकारी संगठनों, ब्लाॅक तथा ग्राम बाल संरक्षण समितियों, कोविड रोकथाम के लिए विभिन्न स्तरों पर गठित निगरानी समितियों और अन्य बाल संरक्षण हितधारकों के सहयोग व समन्वय किया जा रहा है।कोरोना काल में अपने माता पिता को खो चुके बच्चों के भरण पोषण, आर्थिक ,शिक्षा, काउंसलिंग, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य से जुड़ी सहायता राज्य सरकार करेगी। ऐसे में एक बड़ी कार्य योजना के तहत सीएम ने महिला एवम बाल विकास को निर्देश जारी किए हैं। महिला कल्याण विभाग की ओर से जिसका प्रस्ताव तैयार कर सीएम योगी आदित्यनाथ को भेजा गया है।

 36 total views

Most Popular

To Top