अपना प्रदेश

VARANASI: अब तक नहीं खुले रैन बसेरों के ताले, खुले में रात बिताने के लिए मजबूर हैं लोग 

वाराणसी। गुरुवार की रात से हो रही रुक रुक के बारिश के बाद से जिले में ठंड बढ़ गई है। मौसम में हुआ यह बदलाव सबसे ज्यादा उन गरीब और असहाय लोगों के लिए मुसीबत बना है जो लोग खुले आसमान के नीचे रात गुजारते हैं। 

दरअसल जिले में बनाए गए रैन बसेरों के ताले भी नहीं खोले गए है, जिसके कारण गरीब और असहाय लोगों को खुले आसमान के नीजे रात गुजारनी पड़ रही है। रैन बसेरों पर पड़े ताले गरीब और असहाय लोगों के लिए मुसीबत का सबब बने हुए हैं।  गौरतलब है कि हर बार नवंबर महीने से ही रैन बसेरों के ताले खोलकर उसमें गरीब और असहायओं को रखने का काम शुरू हो जाता था, लेकिन इस बार ठंड देर से पड़ने से प्रशासन भी सुस्त पड़ गया है, जिसके कारण अब तक रैन बसेरों पर ताले लटके हुए हैं।

जिले में गुरुवार रात हुई जोरदार बारिश के बाद ठंड बढ़ गई है। यह बदलाव खुले आसमान के नीचे रात गुजारने वाले गरीब और असहाय लोगों के लिए मुसीबत बन गया है। अचानक हुई बारिश के बाद ठंड बढ़ गई तो मजदूरों को रैन बसेरों की तरफ जाना पड़ा,लेकिन रैन बसेरों में लगे ताले की वजह से ही वह अंदर दाखिल नहीं हो पाए और खुले आसमान के नीचे ही रात गुजारने पर मजबूर रहें। स्थानीय लोगों ने भी इस मामले पर काफी नाराजगी जाहिर की।

वहीं लोगों का कहना है कि सरकार और प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए कि खुले आसमान के नीचे गरीबों को न रहना पड़े और इनकी जिंदगी भी सुरक्षित रहें। बड़ागांव थाना क्षेत्र के कोइराजपुर गांव में गुरुवार रात आकाशीय बिजली गिरने से कई किसानों के घर को भारी नुकसान हुआ। इसके अलावा चांदपुर, रोहनिया मिर्जामुराद समेत कई इलाकों में घरों की दीवारें फटने और बिजली की वायरिंग पूरी तरह से जल जाने की जानकारी सामने आई है।

 21 total views

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top