वाराणसी

वाराणसी एसटीएफ के इंस्पेक्टर अनिल और उनके टीम के हत्थे चढ़ा आजमगढ़ का शातिर इनामिया,गैंग लीडर अभी भी फरार

वाराणसी एसटीएफ की टीम ने फरार चल रहे शातिर अपराधी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है,गिरफ्तार शातिर अपराधी आजमगढ़ जनपद का रहने वाला है और इसके ऊपर 50,000 का पुरस्कार भी घोषित था,गिरफ्तार इनामिया सूरज बीते फरवरी महीने से फरार चल रहा था,बताया जा रहा है की इसका एक गैंग है जो अभी तक अलग अलग जनपदो में कई लूट और डकैती की घटनाओं को अंजाम दे चुके है,इस गैंग द्वारा लगातार वारदातो को दिए जा रहे अंजाम के चलते एसटीएफ की कई टीमों को इनके गिरफ्तारी के लिए लगाया गया,इसी क्रम में वाराणसी एसटीएफ यूनिट की एक टीम ने इंस्पेक्टर अनिल के नेतृत्व में बुधवार को अंबेडकर नगर के बसखारी इलाके से एक इनामिया अपराधी सूरज को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वह पंजाब भागने की फिराक में था।

गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ द्वारा पूछताछ में आजमगढ़ का शातिर अपराधी सूरज ने बताया कि हम लोगों का एक गैंग है, जनपद जौनपुर के थाना क्षेत्र सरपतहा निवासी फागू हम लोगों के गैंग का लीडर है। हम लोगों के गैंग में मेरा भाई मिथुन व दिनेश उर्फ छोटू पुत्र राणा एवं मुन्ना निवासी टैनी थाना पवई, जनपद आजमगढ, रवि निवासी शाहपुर थाना जलालपुर जनपद अम्बेडकरनगर, अजय निवासी अतरडिहा, थाना सरपतहा, जनपद जौनपुर आदि शामिल हैं। गैग के सरगना फागू के पास बोलेरो और रवि के पास पिकअप गाड़ी है। हम लोगों द्वारा विभिन्न जनपदों में दर्जनों लूट की घटनायें की गयीं है इसी क्रम में बीते फरवरी महीने मैं अपने गैंग के साथ जनपद अम्बेडकरनगर के थाना बसखारी क्षेत्र के ग्राम बेला परसा व इसके आस-पास के गांव में कुल तीन स्थानों पर मारपीट कर डकैती डालकर हम लोग मौके से फरार हो गये थे। इन तीनों डकैती की घटनाओं के विरूद्ध थाना बसखारी, अम्बेडकरनगर में अभियोग पंजीकृत हुआ था। जिसमें मैं वांछित था और मेरे गिरफ्तारी हेतु रू0 50 हजार का पुरस्कार घोषित हुआ था। इस डकैती की घटना में मेरा भाई मिथुन और दिनेश उर्फ छोटू गिरफ्तार हो चुके हैं।

 87 total views

Most Popular

To Top